प्रधान मंत्री जन धन योजना

Facebook Twitter google+ Pinterest

प्रधान मंत्री जन धन योजना (पीएमजेडीवाई) भारत के हर नागरिक को बैंक खाते (बचत और जमा) और एक सस्ती तरीके से प्रेषण, क्रेडिट, बीमा और पेंशन तक पहुंच का बीमा करने के लिए एक वित्तीय समावेशन है। यह योजना प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा 28 अगस्त 2014 को शुरू की गई थी ताकि देश के हर नागरिक का अपना बैंक खाता हो और सभी सुविधाओं का लाभ उठाया जा सके।

आधार कार्ड वाले लोग बिना किसी अन्य दस्तावेज के अपने खाते खोलने में सक्षम थे, लेकिन जिनके पास आधार कार्ड नहीं था, उन्हें इन दस्तावेजों जैसे आईडी कार्ड / ड्राइविंग लाइसेंस / पैन कार्ड / नरेगा कार्ड / पासपोर्ट जमा करने की आवश्यकता थी और अगर कोई व्यक्ति ' इन दस्तावेज़ों में से किसी भी रूप में अच्छी तरह से, एक राजपत्रित अधिकारी द्वारा हस्ताक्षरित फोटो पहचान पत्र जमा करने के लिए आवश्यक था।

पीएमजेडीवाई के तहत नागरिकों को कुछ विशेष लाभ दिए गए जैसे जमा पर ब्याज, आरएस के दुर्घटना बीमा कवर 1 लाख आदि सरकारी योजनाओं के लाभार्थी पीएमजेडीवाई के तहत खातों में प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण, पेंशन और बीमा उत्पादों तक पहुंच, भारत भर में पैसे का आसान हस्तांतरण, आरएस तक ओवरड्राफ्ट सुविधा 50,000 केवल प्रति खाता एक खाते के लिए उपलब्ध था, अधिमानतः घर की महिला पीएमजेडीवाई के तहत बैंक खातों को खोलने के लिए न्यूनतम शेष राशि की आवश्यकता नहीं थी। इस योजना के कारण ग्रामीण और साथ ही शहरी क्षेत्रों में बड़ी संख्या में बैंक खाते खोलने के लिए लगभग 10 करोड़ खाते खोल दिए गए थे। इसने पैसे की सुरक्षित जमा राशि का लाभ उठाया और बैंकिंग प्रणाली के सभी लाभों का लाभ उठाया, जिनमें से कई नागरिक अनजान थे। हमारे पास शिक्षा के लिए भी योजनाएं हो सकती हैं क्योंकि हमारे समाज का एक बड़ा हिस्सा अभी भी प्राथमिक शिक्षा प्राप्त करने में असमर्थ है।